जब राजेन्द्र कुमार ने अमृता सिंह को सिखाया सबक

0
81
बॉलीवुड के जुबली कुमार यानि राजेंद्र कुमार को काफी शरीफ और सुलझा हुआ इंसान माना जाता रहा है। यही वजह है कि जब राजेंद्र कुमार ने बतौर प्रोड्यूसर अपनी पारी शुरू की उन्हें लोगों ने टेक फॉर ग्रांटेड लेना शुरू कर दिया। हालाँकि राजेंद्र कुमार अपनी फिल्म के कलाकारों से ज्यादा उलझना पसंद नहीं करते थे इसलिए वो  कई बार  विपरीत सिचुएशन में भी अपना पेशेंस बनाये रखते थे. लेकिन फिल्म नाम के निर्माण के दिनों में अमृता सिंह ने उन्हें इतना परेशान किया कि जुबली कुमार का धैर्य भी जवाब दे गया और उन्होंने अमृता सिंह को ऐसा सबक सिखाया जो उन्हें हमेशा के लिए याद रहा. 

1986 में राजेंद्र कुमार ने अपने बेटे कुमार गौरव को रिलाँच करने के लिए महेश भट्ट के निर्देशन में नाम की शुरुआत की।  इस फिल्म में उन्होने कुमार गौरव  के साथ संजय दत्त और अमृता सिंह को कास्ट किया। अमृता सिंह शुरुआत से ही राजेंद्र कुमार पर हावी होने लगी। उनके अनाप-शनाप खर्चों ने राजेंद्र कुमार के बजट को चरमरा कर रख दिया। फिल्म की शूटिंग जब हाँगकाँग में हो रही थी तो अमृता सिंह ने इंडिया में कई लंबे-लम्बे इंटरनैशनल कॉल्स किए जिसका बिल लगभग तीस लाख आया.  जिसका भुगतान राजेंद्र कुमार को करना पडा। जब फिल्म पूरी हुई और अमृता सिंह को बकाया पेमेंट करने की बारी आयी राजेंद्र कुमार ने अमृता सिंह की फीस से ये पैसे काट लिए और बकाया उन्हें थमा दिया। अमृता सिंह ने जब इसका विरोध किया तो राजेंद्र कुमार ने उन्हें कोर्ट में घसीटने की धमकी दे डाली।  राजेंद्र कुमार के गुस्से को देखते हुए अमृता कुछ न बोल सकीं। इतना ही नहीं अमृता सिंह से बुरी तरह चिढ़े राजेंद्र कुमार ने उनके रोल्स पर खूब कैंची चलवाई और फिल्म की दूसरी हीरोइन पूनम ढिल्लन के सामने अमृता को एक्स्ट्रा बना दिया। राजेंद्र कुमार जैसे सीनियर के सामने अमृता सिंह की एक ना चली और वो मन मसोस कर रह गई। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here