जब श्रीदेवी को लेकर भिड़ गए अनिल कपूर और बोनी कपूर

0
357
बॉलीवुड में अनिल कपूर की फैमिली ऐसी है जहां आपसी मतभेद और झगड़ों के मामले कम ही सामने आते हैं। अनिल कपूर बोनी कपूर और संजय कपूर-तीनों भाइयों के बीच काफी अच्छे रिश्ते रहे हैं. बोनी कपूर ने बड़े भाई का फ़र्ज़ निभाते हुए दोनों भाईयों के फ़िल्मी करियर को आगेबढ़ाने में काफी बड़ा रोल अदा किया है। लेकिन 1985  में फिल्म मि. इंडिया की मेकिंग के दौरान एक वाकया ऐसा हुआ जब अनिल कपूर और बोनी कपूर श्रीदेवी को लेकर आपस में ही भिड़  गए। 

मिथुन और श्रीदेवी का रिश्ता टूटते ही दोनों के कॉमन फ्रेंड रहे बोनी कपूर श्रीदेवी के आस पास मंडराने लगे थे। जाहिर है किसी भी फिल्म के लिए हीरोइन के रूप में श्रीदेवी उनकी पहली पसंद हुआ करती थी। जब बोनी ने मि.इंडिया बनाने की योजना बनाई तो इस फिल्म के लिए श्रीदेवी ही उनकी पहली पसंद थी लेकिन श्रीदेवी इस फिल्म में काम करने को राजी नहीं थी। बोनी के बार-बार जोर देने पर श्रीदेवी ने अपनी मम्मी के ऊपर टाल दिया क्योंकि उन दिनों श्रीदेवी की मम्मी ही  तय करती थी कि श्रीदेवी किस फिल्म में काम करेंगी और किसमें  नहीं। बोनी श्रीदेवी के मां से मिलने चेन्नई जा पहुंचे लेकिन वहां श्रीदेवी ने इस फिल्म के लिए दस लाख की डिमांड रख दी ताकि बोनी खुद ही फिल्म में श्रीदेवी को लेने से मना कर दें। लेकिन बोनी पर तो जैसे श्रीदेवी का खुमार चढ़ा हुआ था इसलिए उन्होंने दस की जगह ग्यारह लाख ऑफर कर श्रीदेवी की बोलती बंद कर दी और मजबूरन श्रीदेवी को इस फिल्म का हिस्सा बनना ही पडा. 

बोनी के साथ इस फिल्म में अनिल कपूर ने भी अपनी कमाई का बड़ा हिस्सा इन्वेस्ट किया था। जाहिर है इतनी बड़ी रकम देकर श्रीदेवी को साइन करना उन्हें खटक रहा था लेकिन उन्होंने चुप्पी साध ली। शूटिंग के दौरान बोनी श्रीदेवी को खुश करने के लिए पैसा पानी की तरह बहा रहे थे जिसकी वजह से फिल्म ओवर बजट होती जा रही थी। पैसों की ये फिजूलखर्ची अनिल कपूर को रास नहीं आ रही थी और वो अन्दर ही अन्दर कुढ़ रहे थे। एक दिन जब बोनी ने श्रीदेवी की मां के इलाज के लिए अमरीका का एयर टिकट बुक किया तो अनिल कपूर के सब्र का पैमाना छलक गया और वो सेट पर ही बोनी पर चिल्लाने लगे। मामला इतना आगे बढ़ा कि अनिल कपूर ने शूट कैंसिल कर दिया और सेट छोड़कर चले गए।

निर्देशक शेखर कपूर के बीच बचाव के बाद अनिल कपूर इस शर्त पर फिल्म करने को राजी हुए कि प्रोडक्शन का सारा काम-काज वो खुद देखेंगे और फिल्म की कमाई का बड़ा हिस्सा वो खुद अपने पास रखेंगे। बोनी इस फिल्म पर इतना पैसा खर्च कर चुके थे कि उनके पास और कोई चारा ही नहीं था. फिल्म जबरदस्त कामयाब रही और इससे अनिल कपूर को काफी फायदा मिला। बोनी के लिए राहत की बात ये रही कि इस फिल्म के बाद ही श्रीदेवी ने बोनी कपूर को गंभीरता से लेना शुरू किया और एक दिन दोनों ने शादी कर ली. 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here