यश चोपड़ा ने ऐसे बर्बाद किया राजेश खन्ना का फ़िल्मी करियर

0
38
यश चोपड़ा शुरुआत में अपने बड़े भाई बी आर चोपड़ा के बैनर तले काम करते थे. इस बैनर तले उन्हें वक़्त, धुल का फूल और इत्तेफाक जैसी हिट फ़िल्में बनाई. 1972 में पामेला चोपड़ा से शादी के बाद यश जी, बी आर से अलग होकर अपने बैनर यश राज फिल्म्स की नींव रखी और इस बैनर के तले उन्होंने पहली फिल्म ‘दाग’ के निर्माण का ऐलान किया. यश जी के क्रेडिट में भले ही हिट फ़िल्में दर्ज थी, लेकिन बी आर फिल्म्स से अलग उनकी कोई पहचान नहीं थी. यही वजह है कि जब उन्होंने ‘दाग’ बनाने का ऐलान किया तो कोई फायनेंसर उनकी फिल्म में पैसा लगाने को तैयार ही नहीं हुआ. ऐसे बुरे वक़्त में अभिनेता राजेश खन्ना उनकी मदद को आगे आए और उन्होंने उनकी फिल्म बिलकुल मुफ्त में साइन की. राजेश खन्ना उन दिनों बड़े स्टार थे. उनकी एंट्री होते ही फायनेंसरों की लाइन लग गई और दाग शुरू हो गयी. 1973 में फिल्म रिलीज हुई और हिट रही. इसके साथ ही यश जी की गाड़ी चल निकली. लेकिन जिस राजेश खन्ना ने यश चोपड़ा की इतनी मदद की उसी ने खन्ना के करियर की तबाही में अहम् रोल निभाया.

‘दाग’ की सफलता से उत्साहित यश चोपड़ा ने 1974 में फिल्म ‘दीवार’ बनाने का ऐलान किया और लीड रोल में राजेश खन्ना को साइन किया. फिल्म के लेखक थे सलीम-जावेद. खासकर सलीम खान को खन्ना से काफी एलर्जी थी. इसलिए उन्होंने फिल्म में खन्ना की जगह अमिताभ बच्चन को लेने का दबाब बनाना शुरू कर दिया. बच्चन ‘जंजीर’ की रिलीज के बाद लाइमलाइट में आ चुके थे और ये कोई घाटे का सौदा भी नहीं था. लेकिन यश जी खन्ना से अपनी दोस्ती के कारण झिझक रहे थे. आखिरकार दोस्ती पर कारोबार हावी हो गया और फिल्म में खन्ना की जगह बच्चन आ गए. यही वो घटना थी जिसकी वजह से खन्ना और यश चोपड़ा की दोस्ती में दरार पड़ गई. ‘दीवार’ हिट फिल्म साबित हुई और इसने अमिताभ बच्चन के करियर को बुलंदियों पर पहुंचा दिया. इस कामयाबी की कीमत यश चोपड़ा को खन्ना की दोस्ती गंवा कर चुकानी पड़ी, लेकिन चोपड़ा ने इसकी परवाह ना करते हुए बच्चन के साथ फ़िल्में बनाना जारी रखा. सालों बाद खन्ना यश चोपड़ा की फ्लॉप फिल्म ‘विजय’ में नजर आए. वो भी इसलिए क्योंकि बच्चन ने इस फिल्म में काम करने से इंकार कर दिया था. अगर यश चोपड़ा ने राजेश खन्ना से अपनी दोस्ती निभाई होती तो उनके करियर का ऐसा ट्रेजिक अंत नहीं होता.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here