बॉलीवुड की तेज-तर्रार मर्दानियां

0
72
बॉलीवुड की कामयाबी का ग्राफ पुलिसिया वर्दी के आस-पास ही घूमता रहा है. अमिताभ बच्चन की फिल्म ज़ंजीर से लेकर अजय देवगन की सिंघम तक दर्शकों ने खाकी की ताकत को परदे पर खूब सराहा. इसी क्रम में जब जब अभिनेत्रियों ने ग्लैमर का चोला उतारकर पुलिसिया वर्दी पहनी तो दर्शकों का उन्हें भरपूर प्यार मिला. आज हम बॉलीवुड की कुछ ऐसी अभिनेत्रियों के बारे में बताने जा रहे हैं, जो वर्दी में अभिनेताओं के मुकाबले बीस ही साबित हुई और दर्शकों ने भी इन मर्दानियों को खूब सराहा.

प्रियंका चोपड़ा, (जय गंगाजल) :  प्रकाश झा की फिल्म “जय गंगाजल” में तेज तर्रार पुलिस अधिकारी के रोल में प्रियंका चोपड़ा ने अपना खूब जलवा दिखाया. एक सुपर कॉप की भूमिका में प्रियंका ने खूब वाहवाही बटोरी. उन्होंने अपने किरदार को बहुत अच्छे से निभाया और साबित कर दिया कि यदि उन्हें एक अच्छी भूमिका मिलती है, वह चमत्कार कर सकती हैं. हालांकि फिल्म बॉक्स ऑफिस पर ज्यादा धमाल नहीं मचा पाई, लेकिन “जय गंगाजल” को प्रियंका के करियर की सबसे बेहतरीन फिल्मों में से एक माना जा रहा है.

रानी मुखर्जी, (मर्दानी) : दो सालों तक सिनेमा से दूरी बनाए रखने के बाद, रानी मुखर्जी ने फिल्म “मर्दानी” से दोबारा सिल्वर स्क्रिन की तरफ रुख किया. प्रदीप सिरकार के निर्देशन में मानव तस्करी को लेकर बनी फिल्म “मर्दानी” में रानी ने साबित कर दिया कि वह एक उत्कृष्ट अभिनेत्री हैं. क्राइम थ्रिलर फिल्म मर्दानी में उनके शानदार अभिनय ने एक अभिनेत्री के रुप में उनकी प्रतिभा को उजागर किया. इस फिल्म में रानी ने मुंबई क्राइम ब्रांच के इंटेलिजेंस सीनियर ऑफिसर “शिवानी शिवाजी रॉय” की भूमिक निभाई थी.

माधुरी दीक्षित, (खलनायक) : माधुरी दीक्षित अपने करियर की बुलंदियों पर थी जब उन्होंने साधारण से हटकर कुछ अलग करने का निश्चय किया और सुभाष घई की फिल्म “खलनायक” में एक पुलिस की भूमिका निभाई. हालांकि फिल्म में नृत्य, ड्रामा और रोमांस जैसे माधुरी दीक्षित द्वारा अभिनय की सभी विशिष्ट मनोरंजन थी, फिल्म बहुत सफल रही है और टिकट खिड़की पर तुरंत ही धमाल मचा दिया.

रेखा, (फूल बने अंगारे) : “फूल बने अंगारे” को रेखा के करियर की सबसे बेहतर फिल्मों में से एक माना जाता है. एक महिला पुलिस अधिकारी की उनकी भूमिका जिसने अपने इंस्पेक्टर पति की हत्या का बदला लिया, सभी सिने प्रेमियों द्वारा सराहना की गई. के.सी बोकाड़िया द्वारा निर्देशित फूल बने अंगारे जुलाई 12, 1991 में रिलीज़ हुई थी और इसके रिलीज़ के मात्र कुछ दिनों बाद ही बॉक्स ऑफिस पर इसे हिट हो गई.

प्रीति जिंटा, (संघर्ष) : बॉलीवुड की सर्वश्रेष्ठ मनोवैज्ञानिक क्राइम थ्रिलर फिल्म के रुप में जानी जाने वाली फिल्म “संघर्ष” सितंबर 3, 1999 को रिलीज़ हुई थी, जिसे तनुजा चंद्रा ने निर्देशित किया था और इस फिल्म में अक्षय कुमार, प्रीति ज़िंटा और आशुतोष राणा मुख्य भूमिका में थे. रिलीज़ के बाद “संघर्ष” को मिला-जुला रेस्पॉन्स मिला लेकिन प्रीती ज़िंटा के रोल को खूब सराहा गया.

सुष्मिता सेन, (समय) : “समय” एक थ्रिलर फिल्म है जो अक्तूबर 10, 2003 को रिलीज़ हुई थी. जिसमें सुष्मिता सेन और सुशांत सिंह पुलिस के किरदार में थे. फिल्म ने दर्शकों को बांधे रखा.सुष्मिता सेन ने एक पुलिस अधिकारी के रोल को इतनी गंभीरता से निभाया कि सुष्मिता लोग वाह वाह कर उठे.
परदे पर केवल ग्लैमर का कोटा पूरी करने वाली अभिनेत्रियों ने जब जब खाकी का जलवा दिखाया लोगों ने खूब पसंद किया. यही वजह है की इस सिलसिले के आगे बढ़ते रहने की उम्मीद कायम है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here