पद्मावत-गायब हैं दर्शक,बढ़ रही है कमाई

0
44

संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावत’ को लेकर ट्रेड मैगज़ीन्स की खबर है कि ये फिल्म तेजी से 150 करोड़ के आंकड़े की तरफ बढ़ रही है .ये आलम तब है जब ये फिल्म देश के चार बड़े प्रदेशों में रिलीज ही नहीं हुई है. इसी वजह से फिल्म की कमाई को लेकर जो आंकड़े पेश किये जा रहे हैं उसपर सवालिया निशान भी खड़े होने लगे हैं. पद्मावत जहां रिलीज हुई है वहां सिनेमाघरों में भारी भीड़ नजर आ रही है। चहल-पहल दिखाई दे रही है, लेकिन देश के कुछ सिनेमाघर ऐसे भी हैं जहां दर्शकों का अकाल है।

मध्यप्रदेश, गुजरात, राजस्थान और गोआ में करणी सेना के आक्रामक विरोध के कारण फिल्म का प्रदर्शन नहीं हो पाया। वहीं देश के अन्य हिस्सों में यह फिल्म प्रदर्शित हुई। बॉक्स ऑफिस पर फिल्म ने जोरदार ओपनिंग ली, लेकिन जहां पर फिल्म रिलीज नहीं हुई वहां पर तो फिल्म और दर्शकों का टोटा पड़ गया।

मध्यप्रदेश, राजस्थान और गुजरात के मल्टीप्लेक्स और सिंगल स्क्रीन सिनेमाघरों को मजबूरी वश टाइगर जिंदा है, 1921, मुक्काबाज, जुमांजी जैसी फिल्मों को चलाना पड़ रहा है जिनका बॉक्स ऑफिस पर रस निकल चुका है। इन फिल्मों को उंगली पर गिनने लायक दर्शक मिल रहे हैं और इन्हीं के सहारे थिएटर्स को चलना पड़ रहा है। इनसे बिजली का खर्च भी नहीं निकल पा रहा है। मल्टीप्लेक्स ने शो की संख्या कम कर दी है। जो रोजाना 15 शो चलाते थे, अब 11 से 12 शो ही चला रहे हैं।

किसी भी हिंदी फिल्म की कमाई का बड़ा हिस्सा इन्हीं प्रदेशों से आता है .अगर उत्तर प्रदेश और बिहार को भी जोड़ दें तो पद्मावत की कमाई का जो आंकडा पेश किया जा रहा है उसका खोखलापन सामने आने लगता है .180 करोड़ की लागत से बनी पद्मावत को लेकर भले ही राजपूतों में विरोध के सुर नरम पड़ गए हैं लेकिन कई जगह लोगों ने इस फिल्म का स्वैच्छिक बहिष्कार कर रखा है. मेट्रो शहरों में फिल्म का टिकट दर दोगुना कर दर्शकों से पैसे वसूल किये जा रहे हैं. विवादों के करण फिल्म को जो एक्स्ट्रा बूस्ट मिला था उसकी रफ़्तार थम चुकी है फिर भी फिल्म का कारोबार भारत की जनसंख्याँ की रफ़्तार से दौड़ रही है तो मानना पडेगा कि भंसाली फिल्म के साथ-साथ मीडिया को भी काफी बढ़िया तरीके से मैनेज करना जानते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here