सनी देओल-राज कुमार संतोषी के बीच अनिल कपूर बन गए विलेन

0
107

सनी देओल और राज कुमार संतोषी की बॉन्डिंग काफी अच्छी रही है. इस जोड़ी ने दर्शकों को घायल ,घातक, दामिनी जैसी कई बेशकीमती तोहफे दिए. इंडस्ट्री में संतोषी और सनी की दोस्ती काफी गहरी मानी जाती थी लेकिन अचानक दोनों एक-दूसरे के दुश्मन बन गए. ऐसे दुश्मन जो एक-दूसरे को देखना तक पसंद नहीं करते। आखिर ऐसी क्या वजह है जो सनी और संतोषी एक-दूसरे से नफरत करते हैं? इस जोड़ी को तोड़ने में बोनी और अनिल कपूर का काफी बड़ा हाथ रहा है.

बतौर निर्देशक अपनी पारी शुरू करने से पहले संतोषी गोविन्द निहलानी के असिस्टेंड हुआ करते थे. सनी देओल ने उन्हें ‘घायल’ के जरिए एक बड़ा मौक़ा दिया और संतोषी ने भी इस फिल्म के जरिए अपनी काबिलियत साबित कर दी. इसके बाद ‘अंदाज़ अपना अपना’ और ‘दामिनी’ की कामयाबी उन्हें बतौर निर्देशक उनका सिक्का जमा दिया.

लगातार कामयाबी के बाद संतोषी प्रोड्यूसर भी बन गए और उन्होंने सनी को लेकर ‘घातक’ का निर्माण किया. लेकिन ये फिल्म संतोषी के लिए घाटे का सौदा साबित हुआ। फिल्म फ्लॉप रही और संतोषी बड़े कर्ज में डूब गए. संतोषी ने घातक से पहले आमिर-फैज़ल और सनी-बॉबी के साथ नए प्रोजेक्ट का ऐलान कर दिया था लेकिन इसी बीच बोनी कपूर ने उन्हें मोटी रकम का ऑफर दे कर अनिल कपूर और माधुरी के साथ ‘पुकार’ के निर्देशन का ऑफर दिया। संतोषी जानते थे कि अगर उन्होंने इस ऑफर को स्वीकार किया तो सनी और आमिर दोनों नाराज हो सकते हैं. लेकिन पैसा इतना ज्यादा मिल रहा था कि वो ना भी नहीं कर पा रहे थे.

आखिरकार उन्होंने बोनी के इस ऑफर को स्वीकार कर लिया लेकिन इसे छिपा कर रखा. जब सनी को ये बात पता चली तो उन्होंने संतोषी से कैफियत तलब की. संतोषी बड़ी बेअदबी से पेश आये जिससे नाराज सनी ने संतोषी को चांटा जड़ दिया. सनी और संतोषी की इस अदावत से दोनों का निजी नुकसान तो कुछ नहीं हुआ लेकिन दर्शक कई अच्छी फिल्मों से मरहूम हो गए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here