जब अनिल कपूर ने माधुरी दीक्षित के साथ काम करने से कर दिया था इंकार

0
91
अनिल कपूर और माधुरी दीक्षित अपने दौर की सबसे हिट ऑनस्क्रीन जोड़ी मानी जाती थी. इस जोड़ी ने तेज़ाब, बेटा, पुकार जैसी कई फिल्मों में काम किया. जिसकी शुरुआत एन चंद्रा की फिल्म ‘तेज़ाब’ से हुई थी. तेज़ाब ने माधुरी दीक्षित को स्टार बना दिया लेकिन ये फिल्म माधुरी को किस्मत से ही मिली थी.

एन.चंद्रा ने जब इस फिल्म की प्लानिंग की तो इसमें नाना पाटेकर और आमिर खान मुख्य रोल में थे और हीरोइन के रूप में मीनाक्षी शेषाद्री को लिया गया गया था. लेकिन फिल्म शुरू होने से पहले ही इन तीनों ने किसी ना किसी वजह से फिल्म छोड़ दी. इसके बाद बोनी कपूर की सिफारिश पर अनिल कपूर को बतौर हीरो साइन किया गया और उनके अपोजिट हीरोइन की तलाश शुरू कर दी गई .उन दिनों रिक्कू राकेशनाथ माधुरी दीक्षित के सेक्रेटरी हुआ करते थे और उनके लिए काम मांगने निर्माताओं के ऑफिस के चक्कर लगाया करते थे. जब रिक्कू को इस फिल्म के बारे में पता चला तो उन्होंने एन.चंद्रा से माधुरी को इस फिल्म में लेने की गुजारिश की. माधुरी के खाते में अबोध जैसी फ्लॉप फिल्म ही थी लेकिन जब एन चंद्रा ने उनकी तस्वीरें देखी तो माधुरी की मुस्कान उन्हें भा गयी और उन्होंने माधुरी के लिए हामी भर दी.

माधुरी को फिल्म के लिए फायनल कर जब अनिल कपूर को इस बारे में जानकारी दी गयी तो वो इसके लिए राजी नहीं हुए. उनका कहना था कि माधुरी में कहीं से कैबरे डांसर जैसी बात नजर नहीं आती जो इस फिल्म में उनका किरदार है. उन्होंने एन.चंद्रा पर हीरोइन बदलने के लिए दबाव बना दिया. तब रिक्कू राकेश नाथ ने बोनी कपूर को अनिल से बात करने को कहा. बोनी के कहने से अनिल कपूर इसके लिए राजी हो गए. इस फिल्म के रिलीज होते ही माधुरी दीक्षित स्टार बन गयी. बाद में खुद अनिल कपूर कपूर माधुरी को अपनी हर फिल्म में लेने की जिद्द करते थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here