जब धर्मेंद्र ने करिश्मा कपूर को फिल्म से बाहर निकाला

0
17
करिश्मा कपूर ने जब कपूर खानदान की परंपरा को ताक पर रखते हुए Bollywood में कदम रखने का फैसला किया तो उन्हें उम्मीद थी कि उनके पास बड़ी-बड़ी फिल्मों की लाइन लग जाएगी और उन्हें Bollywood में जगह बनाने के लिए ज्यादा मशक्कत नहीं करनी पड़ेगी. लेकिन हुआ ठीक इसका उल्टा… Bollywood के दिग्गजों ने उनमें ज्यादा दिलचस्पी नहीं दिखाई और उन्हें ‘प्रेम कैदी’ जैसी औसत फिल्म से अपनी शुरुआत करनी पड़ी, जिसका निर्माण एक दक्षिण भारतीय निर्माता डी.रामा नायडू ने किया था. Bollywood में बड़े मौके ना मिलते देख करिश्मा की मां बबीता ने धर्मेंद्र से संपर्क किया जो उन दिनों फिल्म ‘बरसात’ से बॉबी देओल को लांच करने की योजना बना रहे थे. बबीता की सिफारिश पर पहले तो धर्मेंद्र ने हामी भर दी, लेकिन बाद में मुकर गए. धर्मेंद्र की इस वादा खिलाफी ने करिश्मा के करियर और दिमाग पर गहरा असर डाला और वो बुरी तरह टूट गयी.

धर्मेंद्र, करिश्मा को अपने बेटे बॉबी के साथ फिल्म ‘बरसात’ में लांच करना चाहते थे. लेकिन करिश्मा ज्यादा जल्दी में थी. इसलिए उन्होंने प्रेमकैदी के बाद पुलिस ऑफिसर, जाग्रत, निश्चय जैसी कई फ़िल्में साइन कर ली और ये सारी फ़िल्में फ्लॉप हो गई. अब भला ऐसी फ्लॉप एक्ट्रेस को धर्मेंद्र बॉबी के पल्ले क्यों बांधते..? इसलिए उन्होंने करिश्मा से किनारा कर लिया. एक तो करिश्मा की फ्लॉप होती फ़िल्में और धर्मेंद्र जैसे निर्माता की फ़िल्में हाथ से निकल जाना… जाहिर है ये करिश्मा के लिए किसी सदमे से कम नहीं थी. यहीं पर करिश्मा टूटने लगी थी. वह रात-रात भर रोती रहतीं. कभी बबिता तो कभी उनकी छोटी बहन करीना उन्हें समझाती. घर का माहौल ऐसा होता कि घर में कोई भी खाना न खाता. सब चुपचाप एक-दूसरे को सहारा दे रहे होते. राज कपूर का नाम होने के बाद भी कोई बड़ा फिल्मकार करिश्मा को रीलांच करने के लिए आगे नहीं आया.

वैसे देखा जाए तो करिश्मा का करियर सही मायने में डेविड धवन ने बदला. साल 1994 में जब ‘राजा-बाबू’ फिल्म आई तब पहली बार करिश्मा को दर्शकों ने नोटिस किया. फिल्म भले ही गोविंदा की कॉमेडी की वजह से चली, लेकिन करिश्मा के काम को भी सराहा गया. उसके बाद साल 1996 में रिलीज हुई फिल्म ‘राजा हिंदुस्तानी’ से करिश्मा स्टार बन गई और ये फिल्म भी उन्हें ऐश्वर्या राय द्वारा फिल्म ठुकरा दिए जाने के कारण मिली.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here