जब धर्मेंद्र के अपमान से नाराज सनी ने फराह नाज़ को जमकर दी गालियां

0
26
सनी देओल और धर्मेंद्र के बीच कैसे रिश्ते हैं, इसे लेकर हमेशा कयास लगाए जाते रहे हैं. अंदरुनी तौर पर दोनों के बीच जैसे भी संबंध हों लेकिन बाहरी तौर पर तो सनी एक आज्ञाकारी बेटे बने ही नजर आते हैं. इसलिए जब भी कोई धर्मेंद्र की शान में गुस्ताखी करता है सनी उसकी हालत बिगाड़ने में कोई कोर-कसर बाकी नहीं छोड़ते. एक बार अभिनेत्री फराह नाज़ ने भी ऐसी जुर्रत दिखाई थी. सनी ने उन्हें ऐसा सबक सिखाया कि उन्हें सीनियर्स से पेश आने का सलीका ही समझ में आ गया.

फराह नाज़ अपने दौर की एक फायरब्रांड शख्स थी जो किसी से भी उलझ जाया करती थी. इंडस्ट्री में लोग उनसे खौफ खाते थे. 1988 में फराह सनी देओल के साथ जेपी दत्ता की फिल्म ‘यतीम’ में काम कर रही थी. एक दिन धर्मेंद्र फिल्म के सेट पर ये देखने पहुंचे कि काम कैसा चल रहा है. धर्मेंद्र को सामने देख यूनिट के सारे लोगों ने उठकर उनका स्वागत किया. लेकिन फराह अपनी कुर्सी पर बैठी सिगरेट फूंकती रही. इतना ही नहीं वो किसी को गालियां भी बक रही थी.

फराह की इस बदतमीजी से धर्मेंद्र काफी अपसेट हो गए और सीधे प्रोड्यूसर के ऑफिस जा पहुंचे. प्रोड्यूसर ने फराह को कहा की धर्मेंद्र साहब उन्हें बुला रहे हैं. इस पर फराह का कहना था कि, “मैं किसी के बुलाने से क्यों जाऊं..? उस बुड्ढे को यही भेज दो”. धर्मेंद्र ने इस अपमान के बावजूद फराह से कुछ नहीं कहा और वो वहां से चले गए.

बाद में इस घटना की खबर जब सनी देओल को लगी तो वो आगबबूला हो उठे. पहले तो फराह को ढूंढते रहे जब फराह सामने आई तो सनी ने उन पर गालियों का बौछार कर दी. अमूमन शांत से दिखनेवाले सनी का ये रूप देख फराह सेट से भाग खडी हुई. सनी ने प्रोड्यूसर को अल्टीमेटम दिया कि अभी तुरंत फराह को फिल्म से चलता किया जाए. लेकिन फिल्म लगभग पूरी हो चुकी थी. ऐसे में फराह को फिल्म से निकालना संभव नहीं था. इसलिए सनी के कहने पर दत्ता ने फराह के रोल पर जमकर कैंची चली और उन्हें लगभग फिल्म में एक्स्ट्रा बना दिया. इस घटना के बाद फराह और सनी ने फिर कभी किसी फिल्म में एक साथ काम नहीं किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here