कौन-सा एक्टर किस पॉलिटिशियन के रोल में बैठेगा फिट..?!

0
57

इन दिनों बॉलीवुड में नेताओं की बायोपिक काफी सुर्ख़ियों में है. हाल ही में शिवसेना के संस्थापक बाल ठाकरे की बायोपिक फिल्म का टीजर लौन्च किया गया. जिसमें बॉलीवुड एक्टर नवाजुद्दीन सिद्दीकी बालासाहेब ठाकरे की भूमिका निभाते नजर आएंगे. वहीं दूसरी ओर ये खबर आ रही है कि विद्या बालन भारत की पहली महिला प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की बायोपिक में लीड रोल निभा सकती हैं.

लेकिन आपने कभी सोचा है अगर किसी पोलिटिशियन की बायोपिक में विद्या बालन को लेना हो तो शायद स्मृति ईरानी के किरदार में विद्या खूब जचेंगी. विद्या बालन को इंदिरा गांधी बनाया गया तो शायद इंदिरा गांधी भी शरमा जाएंगी अपना ऐसा रूप देखकर. क्योंकि विद्या ने इन दिनों अपना वजन हिसाब से ज्यादा ही गेन कर लिया है. ऐसे में वो इंदिरा गांधी तो नहीं पर स्मृति ईरानी का किरदार बखूबी निभा सकती हैं.

चलिए आगे हम आपको बताते हैं कौन सा बॉलीवुड एक्टर किस पोलिटिशियन को टक्कर देकर उसकी बायोपिक में अपना दमखम दिखा सकता है. अब जब दमखम निभाने की बात आये तो भला कोई भारत के वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कैसे भूल सकता है. जिसने सिर्फ देश ही नहीं विदेशों में भी अपना परचम लहरा दिया है. तो सबसे पहले बात करते हैं नरेंद्र मोदी की , अगर इस किरदार को कोई निभा सकता है तो वो हैं एकमात्र वर्सेटाइल अभिनेता परेश रावल. जो फ़िलहाल एक्टिंग के अलावा पोलिटिक्स में भी अपने झंडे गाड़ रहे हैं. अगर परेश रावल पीएम नरेंद्र मोदी बने और हेराफेरी के बाबूराव टाइप एक्टिंग करने लगे फिर क्या होगा .वैसे परेश रावल इससे पहले सरदार पटेल का किरदार निभा चुके हैं .इसलिए ज्यादा समस्याएँ नहीं आएंगी.

वहीं बात करें राहुल गांधी के बायोपिक की तो ये किरदार रणबीर कपूर के अलावा कोई नहीं निभा सकता. क्योंकि रणबीर कपूर बॉलीवुड के चॉकलेटी बॉय हैं तो राहुल गांधी कांग्रेस पार्टी के. दोनों ही अपनी-अपनी मां के लाड़ले बेटे. तो भला रणबीर कपूर कैसे इंसाफ नहीं करेंगे राहुल गांधी की बायोपिक के साथ. रणबीर कपूर ही हैं जो राहुल गांधी के किरदार को परदे पर उतारने में सक्षम हैं.क्योंकि दोनों ही अपने-अपने सर्कल से बाहर पप्पू ही नजर आते हैं .

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की बायोपिक में तब्बू से बेहतर कोई नहीं हो सकता. तब्बू वैसे शक्ल से ही पॉलिटिशियन नज़र आती हैं. ऐसे में अगर उन्हें सुषमा स्वराज का किरदार निभाने का मौका मिल जाए. तो वो सिर्फ विदेश मंत्री तक ही नहीं सिमित होंगी बल्कि विदेशों तक अपना जलवा दिखा सकती हैं.

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की बायोपिक में हॉलीवुड की मशहूर अभिनेत्री और फिल्म निर्माता रीस विदरस्पून खूब जमेंगी. वैसे सोनिया गांधी के भारतीय होने की बात सिर्फ गांधी खानदान तक ही सिमित है. उनके बाकी सारे गुण किसी विदेशी से कम नहीं. फिर चाहे वो बोलचाल हो या फिर नैन नक्श. ऐसे में ये किरदार रीस विदरस्पून बखूबी परदे पर उतार सकती हैं.

अगर मनोज बाजपेयी को अरविंद केजरीवाल की बायोपिक के लिए साइन किया जाए, तो गलत नहीं होगा. क्योंकि मनोज बाजपेयी भी एक अभिनेता के रूप में आम आदमी जैसे ही दिखते हैं और ऐसे में आम आदमी पार्टी की लगाम थामे अरविंद केजरीवाल कि बायोपिक में कोहराम मचा सकते हैं बशर्ते वो मफलर और खांसी को भी अपना हमसफ़र बना लें .

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी श्री आदित्यनाथ का किरदार निभाने लायक पावर कम से कम किसी बॉलीवुड अभिनेता में नहीं दिखता .बेहतर है योगी के किरदार के लिए हॉलीवुड से ही हीरो इम्पोर्ट किया जाया .योगी के रोल में अभिनेता विन डीजल खूब जचेंगे. क्योंकि आदित्यनाथ जैसा दिखनेवाला शायद ही भारत देश में उनके अलावा दूसरा मिले. ऐसे में विन डीजल ही उनके किरदार को न्याय दिलाएंगे. ये अलग बात होगी कि इस बायोपिक में योगी आदित्यनाथ हिंदी नहीं विदेशी एक्सेंट में बात करेंगे. सोचिये कितना रोमांचक होगा जब योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश में अंग्रेजी बोलते नजर आयेंगे.

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की भूमिका में अजय देवगन को अगर कास्ट किया जाए, तो शायद दर्शकों के लिए ये भी बड़ा रोमांचक ही होगा. अजय देवगन का नाम हमेशा एक गंभीर और दमदार एक्टर के रूप में लिया जाता है. ऐसे में उनका बिहारी लहजे में पॉलिटिकल अंदाज दर्शकों को काफी पसंद आएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here