अमिताभ बच्चन से इतनी नफरत क्यों करती थी परवीन बॉबी !

0
54

हिन्दी सिनेमा की पहली ग्लैमरस गर्ल परवीन बाबी की लाइफ का जब भी जिक्र होगा चाहे-अनचाहे महानायक अमिताभ बच्चन का नाम उसमें शामिल होगा ही .इसकी वजह या तो परवीन बॉबी ही बता सकती हैं या फिर अमिताभ बच्चन को पता होगा लेकिन इसमें कोई शक नहीं कि जीवन के अंतिम दिनों परवीन अमिताभ बच्चन से बेइंतेहा नफरत करती थी और उन्हें नीचा दिखाने का कोई मौक़ा गंवाती नहीं थी .

1974 से पहले परवीन बॉबी ने जितनी भी फ़िल्में की उसने उन्हें एक इमेज जरूर दिया लेकिन उन्हें ज्यादा कामयाबी नहीं मिली . उनको पहली कामयाबी ‘मजबूर’ फ़िल्म में मिली इसी साल रिलीज हुई थी इस फिल्म में अमिताभ बच्चन उनके हीरो थे .इस लोकप्रियता ने दोनों की जोड़ी को जमा दिया और आगे चलकर दोनों ने ‘दीवार’, ‘अमर अकबर एंथनी’, ‘शान’ और ‘कालिया’ जैसी कई हिट फ़िल्में शामिल दी. करियर रफ़्तार पकड़ते ही परवीन बॉबी और अमिताभ बच्चन के बीच मतभेद उभरने शुरू हो गए .बिग बी की सोच थी कि परवीन की कामयाबी उनकी बदौलत है जबकि ये बात परवीन को अखरती थी .जल्द ही अमिताभ बच्चन ने परवीन बॉबी को अनदेखा करना शुरू कर दिया और दूसरी अभिनेत्रियों के साथ फ़िल्में करने लगे .इससे परवीन को गहरी ठेस पहुँची जिसका असर उनके करियर पर भी पड़ने लगा .जिससे वो डिप्रेशन में आ गयी .

इस तनाव से उबरने के लिए परवीन बाबी अध्यात्मिक गुरु यूजी कृष्णमूर्ति के संपर्क में आईं और उनके कहने पर ही 1983 में परवीन बाबी ने बॉलीवुड को छोड़ दिया. थोड़े समय तक वह बैंगलोर में रहीं, इसके बाद अमरीका चली गईं.लेकिन जल्द ही वापस लौट आई .इससे पहले कि वो बॉलीवुड में अपनी वापसी करती पैरानायड स्कित्ज़ोफ़्रेनिया जैसी गंभीर बीमारी का शिकार हो गयी .इसका पता लोगों को तब चला जब उन्होंने अमिताभ पर जान से मारने का आरोप लगा कर सनसनी फैला दी.

अमिताभ बच्चन से उन्हें कितनी नफरत रही होगी इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि जब डैनी जो कि परवीन के पहले प्रेमी थे ने एक इंटरव्यू के दौरान अमिताभ बच्चन को अपना दोस्त बताया तो परवीन ने डैनी से हमेशा के लिए रिश्ते तोड़ दिए। अपनी मौत से एक साल पहले दिए एक टीवी इंटरव्यू में उन्होंने कहा था मर्लिन ब्रांडो, एल्विस प्रिस्ले, लॉरेंस ओलिवर और माइकल जैक्सन के रहते अमिताभ बच्चन को सदी का स्टार चुना जा रहा है, इससे बड़ा जोक और क्या हो सकता है.इसी इंटरव्यू में उन्होंने अमिताभ को भारत का दसवां सबसे हैंडसम मैन चुने जाने का भी मज़ाक बताते हुए कहा था कि देवानंद, फ़िरोज़ ख़ान, शम्मी कपूर, शशि कपूर, यहां तक कि राजकपूर या फिर ऋषि कपूर ज़्यादा हैंडसम थे.

हालांकि अमिताभ ने कभी परवीन बाबी को लेकर सार्वजनिक तौर पर कुछ भी अटपटा नहीं कहा. 2005 में परवीन बाबी के निधन के बाद उन्होंने मीडिया से कहा था कि परवीन अपनी शर्तों पर जीने वाली कलाकार थीं जिनका हिंदी सिनेमा पर गहरा असर रहेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here